Saturday, 12 November 2016

शहर दर शहर तलाश रहा हूँ एक शख्स, जो मिले, प्यार करे और ठहर जाये सिर्फ मेरे लिए,लोग मिलते है प्यार करते हैं मगर कोई ठहरता नहीं कोई नहीं..... असीम...

No comments:

Post a Comment