Monday, 3 October 2016

सनम की सूरत में मैंने, खुदा को पाया है, 
प्यार करू उसे या सज़दे में झुक जाऊ....असीम...

No comments:

Post a Comment